कोलंबो (श्रीलंका): श्रीलंका सरकार ने मुस्लिम समाज के विरोध के बाद भी शवों को जलाने का आदेश जारी किया है। कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत होने पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने शवों को जलाना अनिवार्य कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय इस फैसला से श्रीलंका सुर्खियों में आ गया है। हालांकि इस निर्णय से यहाँ के मुसलमान काफी नाराज है।


Sri Lanka made cremations compulsory for coronavirus victims on Sunday, ignoring protests from the country’s minority Muslims who say it goes against Islamic tradition 
                                                                                                — AFP news agency (April 12, 2020)
श्रीलंका सरकार ने रविवार को कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों के मौत के बाद शवो को दाह संस्कार करने का अनिवार्य कर दिया हैं। इस फैसला से श्रीलंका के मुसलमान नाराज हो गए हैं। मुसलमानो का कहना हैं की सरकार द्वारा लिया गया फैसला   इस्लामीक परंपरा के खिलाफ है।

न्यूज AFP एजेंसी के रिपोर्ट अनुसार श्री लंका में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण से अभी तक 7 मौतों में 3 मुस्लिम समुदाय से था। रिश्तेदारों के विरोध के बाद भी शवों का दाह संस्कार किया गया। रविवार को श्रीलंका के स्वास्थ्य मंत्री पवित्रा वन्नियाराचची ने कहा, कोरोना के संक्रमण से मौत होने के बाद लाश को जलाया जाएगा। WHO की माने तो  संक्रमण से मौत होने पर “दफन" किया जा सकता है।

Post a Comment

أحدث أقدم